हर प्रतिगामी लहर
और
सूनामी तूफान के बाद भी
हम उठ खड़े होते हैं
सहयोग के दरवाजों
और
उम्मीद की खुली खिड़कियों के साथ.
हम जानते हैं
ज्वार के साथ उफनता जल
भाटे के साथ बैठ जाएगा
और बची रहेगी
विश्वास, हौसले की इतनी जमीन
कि हम खड़े हो सकें
नए आज के साथ.

……

Even
After every regressive wave
And devastating Tsunami
we stand up
with the doors of cooperation
and
windows of hope

as we knew
water that flooded due to high tidal
will be calm eventually
and there would be some land
of belief and courage
that we could stand up
in a new world, with you.

 

(photo-curtsy net)